रविवार, 9 मार्च 2008

'जूता...'




'जूता जब काटता है...

तो जिन्दगी काटना मुश्किल हो जाता है।

और जूता काटना जब बंद कर देता है...

तो वक्त काटना मुश्किल हो जाता है।'

2 टिप्‍पणियां:

shruti ने कहा…

Kafi sundar likha hai.char panktiyon mein zeevan ka saransh nichod diya hai.Struggle is an essential part of existence.

vandana khanna ने कहा…

jindgi chaar lines mein, koi aapse seekhe..

आप देख सकते हैं....

Related Posts with Thumbnails